प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की फीस पर एनएमसी का आदेश : अगले सत्र 2022-23 से होगा लागू

निजी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स की 50% सीट पर सरकारी कॉलेजों के फीस के अनुसार लिया जाएगा | इस बार राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग एनएमसी के द्वारा दिशा निर्देश दिया गया है | यह अगले सत्र 2022 तहसील लागू किया जाएगा सूत्रों के अनुसार एनएमसी के दिशा निर्देश में यह कहा गया है , कि प्रदेश के सभी निजी मेडिकल कॉलेज और डीम्ड विश्वविद्यालय के 50% सीटों पर उतना ही फीस तय किया जाएगा , जितना की फीस प्रदेश के सरकारी कोटे के तहत सीट पर लगता है |

Private medical college mbbs fees

प्राइवेट कॉलेजों में बाकी बचे 50 परसेंट सीटों का फीस का निर्धारण वास्तविक लागत के आधार पर तय किया जाएगा | राज्य के मेडिकल कॉलेजों के लिए फीस निर्धारण की समिति के द्वारा , अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले सभी मेडिकल कॉलेजों में इन दिशानिर्देशों को अनिवार्य रूप से लागू करवाने का निर्देश दिया गया है |

प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की फीस पर एनएमसी का आदेश : अगले सत्र 2022-23 से होगा लागू

एमएनसी के द्वारा दिए गए न्यू दिशानिर्देश में यह जानकारी दिया गया है, कि अगले सेशन से प्रदेश के सभी प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों के 50% सीटों पर सरकारी मेडिकल कॉलेजों की फीस के तर्ज पर ही फीस तय किया जाएगा , बाकी बचे सीटों पर कॉलेज के द्वारा फीस का निर्धारण वास्तविक लागत के आधार पर तय किया जाएगा | यह अगले सेशन 2022 -23 से लागू होगा | एनएमसी एक्ट 2019 के तहत प्रदेश के सभी निजी मेडिकल कॉलेज और डीम्ड यूनिवर्सिटी में 50% एमबीबीएस की ओर पीजी की फीस का तय करने के लिए अधिकार सरकार को दिया गया है |

एनएमसी द्वारा लिए गए इस फैसले के बाद देश के हजारों छात्रों को काफी राहत प्रदान होगा और वे अपने आगे की पढ़ाई अच्छे से कर सकते हैं | अभी जैसे इसकी जानते हैं कि प्रदेश के किसी भी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस करने में कम से कम ₹1 करोड़ तक लग जाते हैं , ऐसे में कम फीस होने पर बच्चों और उनके परिवारों को काफी राहत मिलेगा |

Leave a Comment